RK स्टूडियो के बाद बंद हुआ 60 साल पुराना कमालिस्तान स्टूडियो

Bollywood Hangover 2019-06-12T12:30:53+01:00 Bollywood

71 साल पुराने आरके स्टूडियो के बदं होने के बाद अब 60 साल पुराना कलालिस्तान स्टूडियो भी यादों में सिमट कर रह जाएगा क्योंकि ये स्टूडियो अब बंद होने वाला है। 1958 में कमाल अमरोही द्वारा स्‍थापित किया गया कमालिस्तान स्टूडियो जमींदोज होने वाला है। 15 एकड़ में फैले इस स्‍टूडियो को तोड़कर एक बिजनेस पार्क बनाने की योजना है। अब केवल इस स्टूडियो की यादें सिनेमा प्रेमियों के जेहन में रह जाएंगी। 

Navodayatimesमीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो डीबी रियलिटी और बेंगलुरु स्थित RMZ कार्पोरेशन मिलकर इस जमीन पर कॉमर्शियल हब तैयार करने वाली हैं। इस विशाल कॉर्पोरेट ऑफिस का नाम एस्पायर रखा जाएगा। इस प्रोजेक्ट की कीमत 21 हजार करोड़ रुपए बताई जा रही है।  मुंबई आने जाने वाले इस स्‍टूडियो को देखने जाया करते थे लेकिन जल्‍द ही यहां एक नई इमारत दिखाई देगी।
 Navodayatimes

कमालिस्तान स्टूडियो हिंदी सिनेमा की कई सदाबहार और शानदार फ‍िल्‍मों की शूटिंग का साक्षी रहा है। यहां महल (1949), पाकीजा (1972), रजिया सुल्तान, अमर अकबर एंथनी और कालिया जैसी फिल्मों का निर्माण हुआ था। कमालिस्तान फिल्म इंडस्ट्री का दूसरा सबसे आइकोनिक स्टूडियो है।
Navodayatimes 
कमाल अमरोही ने 1953 में अपनी प्रोडक्शन कंपनी बनाई थी। उसके बाद ही इसकी स्‍थापना हुई थी। इस स्टूडियो में फ‍िलहाल कई टीवी सीरियल, विज्ञापनों और डॉक्यूमेंट्री की शूटिंग होती है।

Navodayatimes

Similar Post You May Like